गर्मियों के दिन में राहत के लिसे लोग ठंडे पेय पदार्थ पीते है जिसमें एक बडा हिस्सा साफ्ट ड्रिंक का है। सॉफ्ट ड्रिंक में भी एक बडा हिस्सा कोका कोला का है। अपने अनोखे स्वाद की वजह से युवाओं में कोका कोला का क्रेज है। अमेरिका की यह कंपनी विष्व के करीब हर देष में अपनी यह सॉफ्ट ड्रिंक बेचती है। भारत में कोका कोला को शेयर 56 प्रतिषत है। कंपनी ने अपना कारोबार अपनी सॉफ्ट ड्रिंक के खास फार्मूले की वजह से दुनिया भर में फैलाया है। लेकिन यह फार्मूला क्या है यह आजी भी सीक्रेट है। आज भी कंपनी का यह फार्मूला एक तिजोरी में कैद है। हालांकी ये खबरें आती रहती है कि कंपनी का फार्मूला लीक हो गया है। लेकिन कंपनी ने इसे कोरी अफवाह बताया है।

आधा आधा फार्मला जानते है

कोका कोला के सीक्रेट फार्मूले की चर्चा वर्षों से होती आ रही है लेकिन आपको बता दें कि कंपनी के सीक्रेट फार्मूले की जानकारी कंपनी के अधिकारियों को भी नहीं है। केवल दो एग्जीक्युटिव ऑफिसर को ही इसके बारे में पता है। लेकिन इन एग्जीक्युटिव ऑफिसर को भी आधे आधे फार्मूले के बारे में ही पता है। यह भी कहा जाता है कि कंपनी के दोनों एग्जीक्युटिव ऑफिसर को भी साथ साथ नहीं रखा जाता है। 2011 कंपनी बयान भी दे चुकी है कि कंपनी का फार्मूर्ला अपनी जगह सुरक्षित है।

कंपनी के कर्मचारी भी है अनजान

इस फार्मूले को किसी भी कंपनी के कर्मचारी के साथ डिसक्लोज नहीं किया गया है। अंटलांटा के सन ट्रस्ट बैंक में इसकी ऑरिजनल कॉपी रखी गयी है। सन ट्रस्ट को इस फार्मूले को सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी सौंपी गयी है। वो किसी के साथ भी इस फार्मूले को शेयर न करे। इसलिये कोका कोला में 48.3 मिलियन शेयर दिये गये है। इसके अलावा सन कंपनी के अधिकारियों को बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में शामिल किया गया है।

दिमाग को शांत करने वाला टॉनिक

इस फार्मूले को बनाया था जॉन एस पैबर्टन ने । उन्होनें अंटलाटां में 1886 में कोका कोला को गुप्त फार्मूला बनाया था। 2011 में कंपनी के 125 वर्ष पूर्ण होने पर कंपनी के इस फार्मूले को अंटलाटा म्युजियम में एग्जीबिषन में तिजोरी में रखा गया था। जॉन एस पैबर्टन एक दवा कि दुकान पर काम करते थे। उन्होनें अपने घर के पिछवाडे में एक केतली में अलग अलग सामग्री उबालकर बनाया कोका कोला का यह फार्मुला बनाया था। शुरूआत में इसे दिमाग को शांत करने वाले टॉनिक के रूप में प्रचारित किया गया था। निर्माताओं ने ये दावा भी किया था कि कोका कोला पीने से सिरदर्द और थकान कम हो जाती है और दिमाग ठंडा रहता है पेंडरकास्ट नामक एक व्यक्ति ने अपनी किताब में बताया था कि पेंबर्टन ने इसमें शुरूआत में कोकीन मिलाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here